मेरे हिन्दुत्व में ऐसे लोगो की आरती नहीं होती

india hindi news.in

महाराष्ट्र में सिंबल और नाम को लेकर चल रहे कानूनी जंग के बीच आदित्य ठाकरे ने कहा है कि 40 गद्दार हमारा नाम हमसे छीनने की कोशिश कर रहे हैं. इसके साथ ही उन्होंने गुजरात के बिलकिस बानो रेप केस के दोषियों को रिहा करने पर बीजेपी और गुजरात सरकार पर तीखा हमला किया है. आदित्य ठाकरे ने कहा है कि क्या रेप का जश्न मनाया जा सकता है?

आजतक से बातचीत के दौरान हमारे संवाददाता साहिल जोशी ने कहा कि दहशरे के भाषण में उद्धव ठाकरे ने बिलकिस बानो के दोषियों को छोड़ने का जिक्र किया, शिवसेना पर आरोप ये लग रहा है कि शिवसेना सेकुलर हो रही है. 2014 के बाद शिवसेना इवोल्व होने की कोशिश कर रही है.

आदित्य ठाकरे ने इसके जवाब में कहा कि जो मैंने मेरे दादा जी से हिन्दुत्व सीखा है उसमें कभी भी नहीं गया है कि रेपिस्ट की आरती करो, पूजा करो. ये कभी नहीं कहा गया है. जो भी रेपिस्ट हो उसे फांसी पर चढ़ाओ, यही मेरे दादा जी का हिन्दुत्व था. चाहे वो किसी भी धर्म का हो. जो रेपिस्ट होता है उसका धर्म, प्रांत, जाति, भाषा देखे बिना उसे फांसी दी जानी चाहिए. यहीं हमारी न्याय व्यवस्था भी कहती है. उन्होंने कहा कि राजनीति इवोल्व होती है, लेकिन हम तो विचारधारा को पकड़ते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button