NATO ने 100 जंगी जहाज तैनात किए

 

उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (NATO) ने चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि रूस को अपनी सैन्य कार्रवाई रोकते हुए फौरन यूक्रेन से हट जाना चाहिए. रूस को अंतर्राष्ट्रीय नियमों को सम्मान करना चाहिए. रूस की नीयत दुनिया देख रही है, वो यूक्रेन पर अपनी ताकत का इस्तेमाल कर रहा है. नाटो महासचिव जेन्स स्टोल्टेनबर्ग ने यूक्रेन पर रूस की कार्रवाई को अकारण और अनुचित हमला करार दिया.

उत्तरी अटलांटिक परिषद की एक असाधारण बैठक के बाद ब्रुसेल्स (बेल्जियम ) स्थित NATO मुख्यालय में मीडिया से स्टोल्टेनबर्ग ने कहा, हमारे पास अपने हवाई क्षेत्र की रक्षा करने वाले 100 से अधिक जेट और उत्तर से भूमध्य सागर तक समुद्र में 120 से अधिक जंगी जहाजों बेड़ा है. हम अपने गठबंधन को हमले से बचाने के लिए जो भी जरूरी होगा, वह करेंगे.

स्टोल्टेनबर्ग ने आगे कहा, “हम रूस से अपनी सैन्य कार्रवाई को तुरंत रोकने और यूक्रेन सहित उसके आसपास से अपने सभी बलों को वापस लेने को कहते हैं.

NATO महासचिव ने रूस से अंतर्राष्ट्रीय मानवीय कानूनों का पूरी तरह से सम्मान करने और सभी जरूरतमंद लोगों को सुरक्षित रखने और उन तक जरूरी सहायता पहुंचाने की अनुमति देने का आह्वान किया है. उधर, यूक्रेन की राजधानी कीव में होस्टोमेल हवाई अड्डा पर रूस ने बड़ा हमला बोल दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button