27 जुलाई 2020 का पंचांग 27 July 2020 Today in panchang

27 July 2020 Today in panchang

27 July 2020 Today in panchang

July 27/2020 का दैनिक पंचांग :- वैदिक पंचांग का दूसरा नाम ही हिन्दू पंचांग होता है ! समय व काल की सटीक गणना पंचांग के आधार पर ही की जाती है ! भारतीय वैज्ञानिकों के अनुसार पंचांग पाँच अंगों को मिलाकर बनाया गया है ! जिसमे मुख्य रूप से तिथि वार करण योग , और नक्षत्र महत्वपूर्ण है !

इस विशेष पोस्ट मे हम आपको आज यानी 27 जुलाई 2020 के हिन्दू मास , पक्ष शुभ महूर्त , राहूकाल सूर्य और चंद्र ग्रह की जानकारी , सूर्य उदय से लेकर सूर्य अस्त का समय भी इस पोस्ट मे आपको मिलेगा ! इसके अलावा नक्षत्र , तिथि , करण इत्यादि की जानकारी हम आपको देंगे !

जानिए 27 जुलाई 2020 का पंचांग

तिथि =सप्तमी 09:33 तक
करण =वनिजा 07:10तक
नक्षत्र =चित्रा10:59 तक
योग =साध्य 20:43 तक
पक्ष =शुक्ल
वार =सोमवार
सूर्योदय =05:43 am
सूर्यास्त =07:07 pm
चंद्रमा =तुला राशि मे
राहूकाल =सुबह 07 :24 से 09 :05 तक
शक सम्वत =1941
विक्रमी संवत् =2077
मास =श्रावण
सुभ महूर्त =अभिजीत12:00 से 12:53 तक

पंचांग का अर्थ Meaning of panchang

जैसे की हमने ऊपर आज यानी 27 जुलाई के पंचांग मे बताया की पंचांग पाँच अंगों से मिलकर बना हुआ है ! आईए इन पांचों अंगों को विस्तार से समझते है !

तिथि : – सूर्य रेखांक से चंद्र रेखांक को 12 अंश ऊपर जाने मे जो समय लगता है वही तिथि कहलाती है ! एक महीने मे 30 तिथि होती है जो 2 हिस्सों मे विभाजित होती है ! शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष ! शुक्ल पक्ष की आखिरी तिथि पूर्णिमा होती है और कृष्ण पक्ष की आखिरी तिथि अमावस्या होती है ! वैदिक पंचांग मे तिथि के नाम कुछ इस प्रकार से है ! प्रतिपदाद्वितीयातृतीयाचतुर्थीपंचमीषष्ठीसप्तमीअष्टमीनवमीदशमीएकादशीद्वादशीत्रयोदशीचतुर्थदशीअमावस्या/पूर्णिमा

वार : – वार का मतलब यहा दिन से है ! वार सिर्फ 7 है जो ग्रह के नाम से रखे है !

नक्षत्र : – एक तारा समूह को आकाश मंडल में नक्षत्र कहा जाता है ! कुल 27 नक्षत्र होते है ! अश्विन नक्षत्र, भरणी नक्षत्र, कृत्तिका नक्षत्र, रोहिणी नक्षत्र, मृगशिरा नक्षत्र, आर्द्रा नक्षत्र, पुनर्वसु नक्षत्र, पुष्य नक्षत्र, आश्लेषा नक्षत्र, मघा नक्षत्र, पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र, उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र, हस्त नक्षत्र, चित्रा नक्षत्र, स्वाति नक्षत्र, विशाखा नक्षत्र, अनुराधा नक्षत्र, ज्येष्ठा नक्षत्र, मूल नक्षत्र, पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र, उत्तराषाढ़ा नक्षत्र, श्रवण नक्षत्र, घनिष्ठा नक्षत्र, शतभिषा नक्षत्र, पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र, उत्तराभाद्रपद नक्षत्र, रेवती नक्षत्र।

योग : – सूर्य और चंद्रमा की दूरियों की विशेषता को योग कहा जाता है ! योग भी कुल 27 होते है ! विष्कुम्भ, प्रीति, आयुष्मान, सौभाग्य, शोभन, अतिगण्ड, सुकर्मा, धृति, शूल, गण्ड, वृद्धि, ध्रुव, व्याघात, हर्षण, वज्र, सिद्धि, व्यातीपात, वरीयान, परिघ, शिव, सिद्ध, साध्य, शुभ, शुक्ल, ब्रह्म, इन्द्र और वैधृति।

करण : – वैदिक पंचांग के अनुसार हर दिन यानी हर तिथि मे 2 करण होते है और कुल 11 करण होते है ! बव, बालव, कौलव, तैतिल, गर, वणिज, विष्टि, शकुनि, चतुष्पाद, नाग और किस्तुघ्न।

Final word 

यह था आज के दिन का पंचांग  ! 27 July 2020 Today in panchang जो हमने आपको जानकारी share की जिसमे विशेष तोर पर  27 July 2020 panchang का संग्रह था ! उम्मीद करता हु आपको पसंद आया होगा ! अगर आप इस article से रिलेटेड कुछ सुझाव या सलाह देना चाहते है! तो नीचे comment box आपका इंतजार कर रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: